दर्शन की प्रार्थना फिर से करना

हे मेरे भगवान् मै तुम्हारा किस तरह से धन्यवाद करु। मुझे ये समझ नहीं आ रहा। हे परमात्मा जी तुम मेरे साथ हर पल रहे। हे परमात्मा जी तुम ने मुझे बार बार दर्शन कराया। मुझ में प्रेम जागृत किया। तुमने मुझे ज्ञान प्रदान किया। लेकिन प्रभु प्राण नाथ जहाँ जीवन है वहां मृत्यु भी है। संसार में सत्य है तो वह मृत्यु है। परमात्मा जी तुम ने मुझे उन सबका ज्ञान कराया जो जानने योग्य था। हे परमात्मा जी मुझ मे ही खोट था। मै तुम्हारी साधना पूर्ण नहीं कर पायी। शायद मुझमे अहम आ गया था।                                                                                                   हे परमात्मा जी हे ब्रह्मानन्द जी हे स्वामी हे प्राण नाथ मै शिश झुकाकर प्रार्थना करती हूँ। मुझ से कुछ भुल हुई होगी। मैंने कुछ तो पाप किया होगा। मेरे दिल में पवित्रता नहीं रही होगी। हे परमात्मा जी वह कोन सी घङी होगी जब मैं तुम्हारे चिन्तन में पूरण डुब जाऊगी। मै मै न रहकर परम पिता परमात्मा की बन जाऊगी। हे परमात्मा जी ऐसा तो तभी संभव है जब तुम मुझे अपने मे समा लोगे। प्रभु तुम दिल में आते हो, प्रेम बरसाते हो। एक बार साधक परम प्रभु के दर्शन कर लेता है। साधक अपने स्वामी भगवान् नाथ के बैगर एक पल भी रह नहीं सकता। हृदयके अन्दर दर्द की एक लहर दौड़ जाती है। हे नाथ तुम कब आओगे साधक उठते-बैठते परमात्मा के सामने मस्तक नवाकर प्रार्थना करता है।कि हे स्वामी भगवान् नाथ मै तो आपको ही जानता हूँ। हे परमात्मा जी तुमने मुझे जब से पृथ्वी पर भेजा मै तो तब से आपको ध्याता रहा। मेरे माता पिता स्वामी सखा आप ही हैं। साधक कहता है कि मैंने पृथ्वी पर आकर इतना ही जाना। सब में तु ही समाया है। हे परमात्मा जी मै तुम्हे नमन और वन्दन करती हूँ।
अनीता गर्ग

One Reply to “दर्शन की प्रार्थना फिर से करना”

  1. I enjoy you because of your whole effort on this
    web page. My niece loves setting aside time for internet research and
    it’s easy to see why. Most of us hear all concerning the powerful method you offer good
    things via your web site and even inspire contribution from the others on the concept then our favorite child is always discovering a
    lot. Have fun with the rest of the year. You’re the one carrying out a
    wonderful job. https://over50snewswalesandthesouthwest.wordpress.com/2018/05/20/corbyn-would-have-eu-deal-by-now-mccluskey-insists-labour-is-not-divided-over-brexit-2/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *